Home Hindi Page 3

Hindi

ऐसा नहीं है कि हिन्दी में अच्छे ब्लॉग लिखने वालों की कमी है। हिन्दी में लोग एक से एक बेहतरीन ब्लॉग्स लिख रहे हैं। पर एक चीज़ की कमी अक्सर खलती है। जहां ब्लॉग पर अच्छा कन्टेन्ट है वहां एक अच्छी क्वालिटी की तस्वीर नहीं मिलती और जिन ब्लॉग्स पर अच्छी तस्वीरें होती हैं वहां कन्टेन्ट उतना अच्छा नहीं होता। मैं साहित्यकार के अलावा एक ट्रेवल राइटर और फोटोग्राफर हूँ। मैंने अपने इस ब्लॉग के ज़रिये इस दूरी को पाटने का प्रयास किया है। मेरा यह ब्लॉग हिन्दी का प्रथम ट्रेवल फ़ोटोग्राफ़ी ब्लॉग है। जहाँ आपको मिलेगी भारत के कुछ अनछुए पहलुओं, अनदेखे स्थानों की सविस्तार जानकारी और उन स्थानों से जुड़ी कुछ बेहतरीन तस्वीरें।

उम्मीद है, आप को मेरा यह प्रयास पसंद आएगा। आपकी प्रतिक्रियाओं की मुझे प्रतीक्षा रहेगी। आपके कमेन्ट मुझे इस ब्लॉग को और बेहतर बनाने की प्रेरणा देंगे।

मंगल मृदुल कामनाओं सहित आपकी हमसफ़र आपकी दोस्त

डा० कायनात क़ाज़ी

गुजरात से लाइव: कहानी नमक की….

Runn-Utsav-2016-KaynatKazi-Photography-2016-www.rahagiri.com-80-of-83-1-960x636
गुजरात से लाइव: कहानी नमक की....   हम जैसे-जैसे कच्छ की और बढ़ रहे हैं हवा में नमक की मौजूदगी महसूस होने लगी है। हम समुन्दर से बहुत दूर नहीं हैं। हमारे उलटे हाथ की तरफ कुछ मीलों के फासले पर समुद्री रेखा शुरू होती है। सड़क के आस पास नमक के मैदान दिखने लगे हैं जहाँ बड़ी-बड़ी क्यारियां बना कर...

रंण उत्सव-2016:रंण उत्सव तो एक बहाना है, गुजरात मे बहुत कुछ दिखाना है….

Runn-Utsav-2016-KaynatKazi-Photography-2016-www.rahagiri.com-19-of-83-960x636
रंण उत्सव-2016 रंण उत्सव तो सिर्फ़ एक बहाना है,  गुजरात मे बहुत कुछ दिखाना है.... यह लाइन किसी ने सही कही है, क्यूंकि रंण उत्सव के बहाने ही मैने बहुत कुछ ऐसा देख डाला जिसे देखने शायद अलग से मैं कभी आती ही नही गुजरात। इस बार मौक़ा था रंण उत्सव मे जाने का। चार दिन की मेरी यह तूफ़ानी यात्रा...

कुम्भलगढ़ फेस्टिवल की छटा है निराली

Kumbhalgarh-festival-2016-KaynatKazi-Photography-2016-www.rahagiri.com-13-of-32-960x636
कुम्भलगढ़ फेस्टिवल की छटा है निराली Gair Dance at Kumbhalgarh Festival सच कहूँ तो पहले कभी सुना नही था मैंने यह नाम। कुम्भलगढ़ को जानती ज़रूर थी लेकिन उसके विशालतम दुर्ग के लिए न कि फेस्टिवल के लिए, और इतना जानती थी कि ग्रेट वाल ऑफ़ इंडिया भी यहीं है।  राजस्थान टूरिज़्म की तरफ से जब न्योता आया तो जिज्ञासा हुई...

लोक नृत्य, कला और प्रकृति की सौगात-संगाई फेस्टिवल, इम्फाल मणिपुर

sangai-festival-1
 लोक नृत्य, कला और प्रकृति की सौगात-संगाई फेस्टिवल, इम्फाल मणिपुर दिल्ली से मणिपुर तक का सफ़र लंबा है। यहाँ तक पहुँचने के दो ही साधन हैं, या तो बस या फिर फ्लाइट। पहाड़ों की दूर दूर तक फैली क़तारों को पर करके मणिपुर आता है। मुझे जब मणिपुर टूरिज़्म से संगाई महोत्सव न्योता आया तो जाना तो बनता ही था।...

देवों की दिवाली – देव दिवाली, बनारस

post-processing-2-of-3
देवों की दिवाली - देव दिवाली, बनारस   भारत में दीपावली सबसे बड़ा उत्सव माना जाता है। वैसे तो देश भर में दिवाली उल्लाहस के साथ मनाई जाती है.ऐसा माना जाता है कि दिवाली के साथ उत्सवों और ख़ुशियों का आगमन हो गया है। जब गुलाबी सर्दी की आहट होती है। दिवाली के बाद कार्तिक पूर्णिमा के दिन बनारस में देव दिवाली...

पुष्कर सिर्फ़ एक कैमल फेयर नही यहाँ और भी बहुत कुछ है ख़ास

IMG_5030-960x636
पुष्कर सिर्फ़ एक कैमल फेयर नही यहाँ और भी बहुत कुछ है ख़ास दोस्तों इस बार आपको लिए चलती हूँ तीर्थों के तीर्थ पुष्कर नगरी में जहाँ पर विश्व प्रसिद्ध कैमल फेयर लगता है। इस यात्रा में हम जानेंगे यहाँ से जुड़ी कुछ रोचक बातें। जब राजस्थान टूरिज्म से मुझे न्यौता आया तो मैं ख़ुशी से भर गई। पुष्कर नगरी जाना...

दिलकश नज़ारे दार्जिलिंग के

Darjeeling-KaynatKaziPhotography-2015-8452-960x636
दिलकश नज़ारे दार्जिलिंग के Beautiful landscape of Darjeeling दार्जिलिंग की वादियां जितनी हसीन और दिलकश हैं उससे भी ज़्यादा दिलफ़रेब वहां तक पहुंचने का रास्ता है। हिमालयन रेलवे की छोटी लाइन पर चलने वाली खिलौना रेल गाड़ी जिसे ‘टॉय ट्रेन’ भी कहते हैं न्यू जलपाईगुड़ी से दार्जिलिंग पहुंचने का बहुत पुराना और सैलानियों का पसंदीदा तरीका है। वैसे न्यू जलपाईगुड़ी से...

गुजरात में नवरात्रि की धूम

IMG_6448-960x636
गुजरात में नवरात्रि की धूम भारत देश ऋतुओं का देश है। हम खुशकिस्मत हैं कि हम हर मौसम का मज़ा उठा पाते हैं। यहाँ हर मौसम साथ लाता है अपनी खुशबू समेटे हुए तीज त्यौहार। इस देश में हर मौसम के अलग त्यौहार हैं। तेज़ गर्मी के बाद रिमझिम-रिमझिम फुहार धरा को भिगो देती है। तपती धरती इसका स्वागत...

टाइगर कंट्री-बांधवगढ़ नेशनल पार्क, मध्य प्रदेश

Tiger-Bandhavgarh-Tiger-Reserve-MP-KaynatKazi-Photography-2016-4-of-17-960x636
टाइगर कंट्री-बांधवगढ़ नेशनल पार्क, मध्य प्रदेश बचपन से ही जब भी मैं अपने परिवार के साथ साउथ इंडिया जाती थी तो ट्रेन मध्य प्रदेश के बड़े भाग को क्रॉस करती हुई जाती थी। यह हिस्सा शुरू होते ही खिड़की के बाहर का नज़ारा अपने आप बदल जाता था। यह बताने की ज़रूरत नही पड़ती थी कि हम मध्य प्रदेश में...

कलरीपायट्टु – प्राचीन भारतीय युद्धकला

Kathakali-centre-Kochin-Kerala-KaynatKazi-Photography-2016-4-of-35-960x636
कलरीपायट्टु - प्राचीन भारतीय युद्धकला फोर्ट कोचीन में ऐसे कई संगठन और केंद हैं जो इस राज्य और नज़दीकी राज्यों में पाई जाने वाली कलाओं के संरक्षण में लगे हैं साथ ही वह इस कला को जीवित रखने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं इसी कड़ी में नाम आता है कोचीन सांस्कृतिक केन्द्र Cochin Cultural Centre, यह एक ऐसा स्थान हैं...

Must Read

AHILYA BAI HOLKAR

जनता की प्रिये रानी अहिल्या बाई होल्कर के स्मृति दिवस पर...

#AHILYA BAI HOLKAR आज अहिल्या बाई होलकर के स्मृति दिवस पर मुझे अपनी इंदौर यात्रा याद आ गई। इंदौर शहर के वासियों के दिलों पर...