Home Hindi

Hindi

ऐसा नहीं है कि हिन्दी में अच्छे ब्लॉग लिखने वालों की कमी है। हिन्दी में लोग एक से एक बेहतरीन ब्लॉग्स लिख रहे हैं। पर एक चीज़ की कमी अक्सर खलती है। जहां ब्लॉग पर अच्छा कन्टेन्ट है वहां एक अच्छी क्वालिटी की तस्वीर नहीं मिलती और जिन ब्लॉग्स पर अच्छी तस्वीरें होती हैं वहां कन्टेन्ट उतना अच्छा नहीं होता। मैं साहित्यकार के अलावा एक ट्रेवल राइटर और फोटोग्राफर हूँ। मैंने अपने इस ब्लॉग के ज़रिये इस दूरी को पाटने का प्रयास किया है। मेरा यह ब्लॉग हिन्दी का प्रथम ट्रेवल फ़ोटोग्राफ़ी ब्लॉग है। जहाँ आपको मिलेगी भारत के कुछ अनछुए पहलुओं, अनदेखे स्थानों की सविस्तार जानकारी और उन स्थानों से जुड़ी कुछ बेहतरीन तस्वीरें।

उम्मीद है, आप को मेरा यह प्रयास पसंद आएगा। आपकी प्रतिक्रियाओं की मुझे प्रतीक्षा रहेगी। आपके कमेन्ट मुझे इस ब्लॉग को और बेहतर बनाने की प्रेरणा देंगे।

मंगल मृदुल कामनाओं सहित आपकी हमसफ़र आपकी दोस्त

डा० कायनात क़ाज़ी

Haritage walk-Phool Mandi

Heritage-Phool-Mandi-960x636
हैरिटेज वॉक: फूल मंडी    जिंदिगी में ऐसा बहुत बार होता है कि हम दूर दराज़ की जगह तो देख आते हैं पर ऐसी कई  देखने लायक जगह नज़दीक में ही होती हैं पर हम उनके  टाइम ही नहीं निकाल  पाते। या यूँ कहें की कभी सोचते ही नहीं की यहाँ भी कभी जाना चाहिए। ऐसी ही कुछ अनछुई जगहों पर...

हिमालयन विलेज रिसोर्ट-पार्वती वैली

The-Himalayan-Village-resort_kasol-2
हिमालयन विलेज रिसोर्ट-पार्वती वैली The Himalayan Village Resort-Parvati Valley   Himalayan architecture कसोल शहर मे घुसने से पहले आपको ले चलते हैं एक बेहद खूबसूरत हिमालयन रिज़ॉर्ट मे. इस रिज़ॉर्ट को खास हिमालयन आर्किटेक्चर के हिसाब से बनाया गया है. इस रिज़ॉर्ट को चारों ओर से देवदार के ऊंचे-ऊंचे पेड़ों ने घेरा हुआ है. यहाँ टावर हाउस बने हुए हैं. Himalayan architecture     हिमालय के गाँवों...

इस मॉनसून क्यों जाएँ ? मिरिक

Mahananda-Wildlife-Sanctuary_Kaynatkazi-photography_North-east_June-2015_Travel-Pics-3-of-21-2
    Mirik town from Hill top    बरसात के मौसम में मिरिक बेहद खूबसूरत और हरा भरा नज़र आता है। अगर आप एडवेंचर के शौक़ीन हैं तो एक बार मिरिक बरसात में ज़रूर जाएं। प्रकृति के बेहद हसीं करिश्मे देखने को मिलेंगे। कभी बादल इतने निचे आजाएगा कि आप उसके बीच से होकर गुज़र जाएँगे। रास्तों में जगह जगह बरसाती झरने आपका स्वागत...

दा ग्रेट हिमालय कॉलिंग…. तीसरा दिन: कसोल

Himalayas__kasol_parvati-valley
The great Himalayas calling.... DAY-3 तीसरा दिन: कसोल इस सीरीज़ की पिछली पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें:  जिभी और बंजार वैली Malana Grass   जिभी से कसोल की दूरी 80 किलोमीटेर की है जिसे हम ने 3 घंटे में पूरा किया. हम सुबह जिभी से निकले और दोपहर तक कसोल पहुँच गए थे. कसोल हिमाचल का एक छोटा-सा टाउन है. आज से पाँच साल...

अंगना की चिड़िया

Aangan-Chidiya-2-960x636
  अंगना की चिड़िया आज विश्व गौरय्या दिवस है। जान कर थोडा मन बेचैन हुआ कि जो कल तक हमारे घर के आँगन में फुदकने वाली छोटी सी चिड़िया थी वो आज न जाने कहाँ गायब हो गई है। हम जो बचपन में सुबह होने का अहसास चिड़ियों की आवाज़ से लगते थे आज वो मधुर गीत कहीं खो...

कलरीपायट्टु – प्राचीन भारतीय युद्धकला

Kathakali-centre-Kochin-Kerala-KaynatKazi-Photography-2016-4-of-35-960x636
कलरीपायट्टु - प्राचीन भारतीय युद्धकला फोर्ट कोचीन में ऐसे कई संगठन और केंद हैं जो इस राज्य और नज़दीकी राज्यों में पाई जाने वाली कलाओं के संरक्षण में लगे हैं साथ ही वह इस कला को जीवित रखने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं इसी कड़ी में नाम आता है कोचीन सांस्कृतिक केन्द्र Cochin Cultural Centre, यह एक ऐसा स्थान हैं...

An unforgettable journey of the glorious Gwalior, Madhya Pradesh

  ग्वालियर की सरहद मे दाखिल होते ही अगर कोई चीज़ आपका ध्यान बरबस ही खींच ले तो वो है, ग्वालियर शहर का केंद्र बिंदु यहाँ का क़िला। 300 फिट की ऊंचाई पर पहाड़ी पर बना यह अभेद दुर्ग गवाह है परमार राजवंश के गौरवपूर्ण इतिहास का। यह क़िला 8 वीं शताब्दी मे बना और इसने कई राजवंशों का समय देखा। यहाँ के लोगों...

पुष्कर मेला – एक बार ज़रूर जाना

Pushkar-Mela
    वैसे तो पुष्कर एक छोटी जगह है पर विश्व मानचित्र पर पहचाना जाता है। इसे तीर्थों का तीर्थ कहा जाता है। अजमेर से 14 किमी उत्तर पश्चिम में अरावली पर्वत श्रंखलाओं के बीच बसा हुआ एक मनोरम स्थान है। पुष्कर शब्द दो शब्दों से मिल कर बना है। पुष्प+कर, पुष्प यानी फूल और कर यानी हाथ। पुष्कर में गुलाब...

एक सुहाना सफर एप्पल वैली के बीच से

Kashmir_KaynatKaziPhotography_2015-98-1
  कश्मीर की एक ख़ासियत है। आप श्रीनगर से किसी भी दिशा में निकल जाएं कुदरत के हसीन नज़ारे बाहें फैलाए आपका स्वागत करेंगे। जो भी लोग कश्मीर घूमने आते हैं वह श्रीनगर के बाद पहलगाम देखने भी ज़रूर जाते हैं। पहलगाम अनंतनाग ज़िले में पड़ता है। यह स्थान समुद्र तल से 72,000 फिट की ऊंचाई पर बसा है। श्रीनगर से पहलगाम...

एक दिन भागसूनाग वाटर फॉल के नाम

McLeodgunj_Dharamshala
      way to Bhagsu Waterfall, McLeod ganj, Dharamshala   बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा का निवास होने के कारण मैक्लॉडगंज में लोगों का आना जाना हमेशा ही लगा रहता है। पर यहां आने वाले ज़्यादातर लोगों को एक अनोखे स्थान के बारे में कम ही मालूम होता है। इस जगह का नाम है-भागसूनाग वाटर फॉल, यह मनोरम झरना भागसूनाग मंदिर के नज़दीक...

Must Read

A luxury holiday at its best-Saffron Stay-Milton Abbott estate, Ooty

Milton Abbott estate मिल्टन अबॉट एस्टेट जिस तरह आप हमेशा एक जैसा म्यूज़िक नही सुनते उसी तरह आप हमेशा एक जैसे हॉलिडे पर नही जाते। हम...