Home Hindi

Hindi

ऐसा नहीं है कि हिन्दी में अच्छे ब्लॉग लिखने वालों की कमी है। हिन्दी में लोग एक से एक बेहतरीन ब्लॉग्स लिख रहे हैं। पर एक चीज़ की कमी अक्सर खलती है। जहां ब्लॉग पर अच्छा कन्टेन्ट है वहां एक अच्छी क्वालिटी की तस्वीर नहीं मिलती और जिन ब्लॉग्स पर अच्छी तस्वीरें होती हैं वहां कन्टेन्ट उतना अच्छा नहीं होता। मैं साहित्यकार के अलावा एक ट्रेवल राइटर और फोटोग्राफर हूँ। मैंने अपने इस ब्लॉग के ज़रिये इस दूरी को पाटने का प्रयास किया है। मेरा यह ब्लॉग हिन्दी का प्रथम ट्रेवल फ़ोटोग्राफ़ी ब्लॉग है। जहाँ आपको मिलेगी भारत के कुछ अनछुए पहलुओं, अनदेखे स्थानों की सविस्तार जानकारी और उन स्थानों से जुड़ी कुछ बेहतरीन तस्वीरें।

उम्मीद है, आप को मेरा यह प्रयास पसंद आएगा। आपकी प्रतिक्रियाओं की मुझे प्रतीक्षा रहेगी। आपके कमेन्ट मुझे इस ब्लॉग को और बेहतर बनाने की प्रेरणा देंगे।

मंगल मृदुल कामनाओं सहित आपकी हमसफ़र आपकी दोस्त

डा० कायनात क़ाज़ी

भारतीय अरेबिक स्थापत्यकला का उत्कृष्ठ नमूना श्रीनगर की जामा मस्जिद

Kashmir_KaynatKaziPhotography_2015-175
  Main building of Jamia Masjid   कश्मीर में सूफिज़्म की जड़ों की तलाश अभी बाक़ी है मेरे दोस्त। इस सफर का अगला पड़ाव है यहाँ की  जामा मस्जिद। भीड़ भाड़ से भरे पुराने शहर यानी की डाउन टाउन में यह जगह सुकून देने वाली है। मैं डाउन टाउन की ऊंची नीची सड़कों को लांघती हुई जामा मस्जिद पहुंचती हूं। जामा  मस्जिद के दरवाज़े पर बने भारतीय सेना का बंकर...

मॉनसून मज़ा@ सिंहगढ़ फोर्ट

Singhagad-Fort
मॉनसून मज़ा@ सिंहगढ़ फोर्ट, पुणे, महाराष्ट्र    Add caption   अगर आप भारत में मॉनसून का मज़ा लेना चाहते हैं तो वेस्टर्न घाट ज़रूर जाएं। भारत के पश्चिमी तट पर स्थित पर्वत शृंखला को पश्चिमी घाट कहते है। दक्‍कनी पठार के पश्चिमी किनारे के साथ-साथ यह पर्वतीय शृंखला उत्‍तर से दक्षिण की तरफ 1600 किलोमीटर लम्‍बी है। विश्‍व में जैविकीय विवधता के लिए यह...

Haritage walk-Phool Mandi

Heritage-Phool-Mandi-960x636
हैरिटेज वॉक: फूल मंडी    जिंदिगी में ऐसा बहुत बार होता है कि हम दूर दराज़ की जगह तो देख आते हैं पर ऐसी कई  देखने लायक जगह नज़दीक में ही होती हैं पर हम उनके  टाइम ही नहीं निकाल  पाते। या यूँ कहें की कभी सोचते ही नहीं की यहाँ भी कभी जाना चाहिए। ऐसी ही कुछ अनछुई जगहों पर...

कलरीपायट्टु – प्राचीन भारतीय युद्धकला

Kathakali-centre-Kochin-Kerala-KaynatKazi-Photography-2016-4-of-35-960x636
कलरीपायट्टु - प्राचीन भारतीय युद्धकला फोर्ट कोचीन में ऐसे कई संगठन और केंद हैं जो इस राज्य और नज़दीकी राज्यों में पाई जाने वाली कलाओं के संरक्षण में लगे हैं साथ ही वह इस कला को जीवित रखने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं इसी कड़ी में नाम आता है कोचीन सांस्कृतिक केन्द्र Cochin Cultural Centre, यह एक ऐसा स्थान हैं...

दा ग्रेट हिमालय कॉलिंग….दूसरा दिन

Himalayas_waterfall_jibhi_-tirthan-valley-1
इस सीरीज़ की पिछली पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें:पहला दिन-दिल्ली से जिभी The great Himalayas calling Day-2 दूसरा दिन  रात को बहुत अच्छी नींद आई. पहाड़ी रास्तों पर दिन भर ट्रेवल करने के बाद कहीं जंगल मे कोई आपके लिए नर्म मुलायम बिस्तर बिछाए मिल जाए तो ऐसा लगता है जैसे आप की मां खुद यहाँ आपकी थकान का अहसास करके...

रोमांच और प्रकृति से जुड़ें -गिरी कैम्प सोलन

CampInHimachal_KaynatKaziPhotography_2015-31-1
Giri camp शहरी भाग दौड़ से भरी ज़िन्दगी में अगर बोरियत आ घेरे तो उसे दूर करने का सबसे सरल उपाय है कि कुछ दिन प्रकृति की गोद में गुज़ारे जाएं। जहां न कोई ऑफिस का ईमेल करने  की चिंता हो और न ही फेसबुक पर अपडेट करने की बेचैनी। एक ऐसी जगह जहां फ़ोन भी सिर्फ़ ज़रूरत भर का काम करे।...

वर्ड क्लास एडवेंचर स्पोर्ट्स का मज़ा लें जल महोत्सव में …

Jal-Mahotsav-Madhya-Pradesh-KaynatKazi-Photography-2016-www.rahagiri.com-60-of-95-960x636
वर्ड क्लास एडवेंचर स्पोर्ट्स का मज़ा लें जल महोत्सव में … जब जल महोत्सव का बुलावा आया तो मैंने हमेशा की तरह गूगल पर जाकर यह जानने की कोशिश की के यह जल महोत्सव होता कहाँ है? हनुवंतिया के बारे मे मुझे कुछ ज़्यादा पता नही था सिवाए इसके की यह मध्य परदेश मे है कहीं इंदौर के पास। मैं...

Makar Sankranti-International kite festival-Ahmadabad, Gujarat

International Kite festival Ahmadabadvideo
International Kite festival Ahmadabad मकर संक्रांति पतंग उड़ाना इंसान के पंछी बन दूर गगन में उड़ने की इच्छा का सजीला प्रतीक है। जोकि हमारे देश में अलग अलग मौक़ों पर देखा जाता है। पतंग उड़ाना वैसे तो व्यक्तिगत पसंद का विषय है लेकिन यह कहीं कहीं तो उत्सव के रूप में पूरा का पूरा समाज और राज्य मनाता है। इस दिन सभी लोग...

A holy city in the middle of mountains-Namchi, Sikkim

Budha Park-Namchi-Sikkim-©Kaynat Kazi Photography-www.rahagiri.com (20 of 107)
पहाड़ों से घिरा एक आध्यात्मिक शहर-नाम्ची सिक्किम नामची दक्षिणी सिक्किम मे पड़ने वाला एक बेहद हसीन और खूबसूरत शहर है.यह शहर पहाड़ों के बीच बसा है और यह चारों ओर से ख़ूबसूरत पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यह समुद्र तल से 1,675 मीटर की ऊंचाई पर है। नामची गंगटोक से लगभग 92 किलोमीटर और सिल्लीगुड़ी से 90 किलोमीटर की दूरी...

The emerging trend of the traveller & backpacker’s hostel in India

होटल में रहना हुआ पुराना यह है  ट्रैवेलर हॉस्टल का ज़माना   दोस्तों क्वीन फिल्म तो आप सबने ज़रूर देखी होगी। और एक बार तो ऐसा सोचा भी होगा कि काश आप भी कभी ऐसे ही अनजान देश में अनजान दोस्तों के साथ घूमने फिरने का आनंद उठा पाते और जैसे कंगना रनोट ने हॉस्टल में रह कर यूरोप देखा था...

Must Read

Meghalaya Tourism presents- The Meghalayan Age Festival,2020

Meghalaya Tourism presents- The Meghalayan Age Festival,2020

What: 'The Meghalayan Age- 2020’ When: 7th – 15th of March,2020 Where: Shillong, Meghalaya ABOUT THE MEGHALAYAN AGE - 2020 We live in a fast-paced age, laden with distractions...