Home Hindi

Hindi

ऐसा नहीं है कि हिन्दी में अच्छे ब्लॉग लिखने वालों की कमी है। हिन्दी में लोग एक से एक बेहतरीन ब्लॉग्स लिख रहे हैं। पर एक चीज़ की कमी अक्सर खलती है। जहां ब्लॉग पर अच्छा कन्टेन्ट है वहां एक अच्छी क्वालिटी की तस्वीर नहीं मिलती और जिन ब्लॉग्स पर अच्छी तस्वीरें होती हैं वहां कन्टेन्ट उतना अच्छा नहीं होता। मैं साहित्यकार के अलावा एक ट्रेवल राइटर और फोटोग्राफर हूँ। मैंने अपने इस ब्लॉग के ज़रिये इस दूरी को पाटने का प्रयास किया है। मेरा यह ब्लॉग हिन्दी का प्रथम ट्रेवल फ़ोटोग्राफ़ी ब्लॉग है। जहाँ आपको मिलेगी भारत के कुछ अनछुए पहलुओं, अनदेखे स्थानों की सविस्तार जानकारी और उन स्थानों से जुड़ी कुछ बेहतरीन तस्वीरें।

उम्मीद है, आप को मेरा यह प्रयास पसंद आएगा। आपकी प्रतिक्रियाओं की मुझे प्रतीक्षा रहेगी। आपके कमेन्ट मुझे इस ब्लॉग को और बेहतर बनाने की प्रेरणा देंगे।

मंगल मृदुल कामनाओं सहित आपकी हमसफ़र आपकी दोस्त

डा० कायनात क़ाज़ी

रोमांच और प्रकृति से जुड़ें -गिरी कैम्प सोलन

CampInHimachal_KaynatKaziPhotography_2015-31-1
Giri camp शहरी भाग दौड़ से भरी ज़िन्दगी में अगर बोरियत आ घेरे तो उसे दूर करने का सबसे सरल उपाय है कि कुछ दिन प्रकृति की गोद में गुज़ारे जाएं। जहां न कोई ऑफिस का ईमेल करने  की चिंता हो और न ही फेसबुक पर अपडेट करने की बेचैनी। एक ऐसी जगह जहां फ़ोन भी सिर्फ़ ज़रूरत भर का काम करे।...

हरिद्वार – एक यात्रा आध्यात्म और शान्ति की ओर

Haridwar-960x636
  Haridwar in Blue hour भोर का नीला उजाला,पूरब में सिंदूरी लालिमा, वायु में सुगन्धी अगरबत्तियों की महक, मंदिर की घंटियाँ, दूर से आती शंखनाद, हर हर गंगे की स्वर लहरी, कलकल बहता गंगाजल और घाटों पर जुटती श्रद्धालुओं की भीड़ जैसे मेला लगा हो. यह महान द्रश्य है हरिद्वार स्थित “हर की पौड़ी” का जहाँ की सुबह रोज़ ही आध्यात्म...

गुजरात में नवरात्रि की धूम

IMG_6448-960x636
गुजरात में नवरात्रि की धूम भारत देश ऋतुओं का देश है। हम खुशकिस्मत हैं कि हम हर मौसम का मज़ा उठा पाते हैं। यहाँ हर मौसम साथ लाता है अपनी खुशबू समेटे हुए तीज त्यौहार। इस देश में हर मौसम के अलग त्यौहार हैं। तेज़ गर्मी के बाद रिमझिम-रिमझिम फुहार धरा को भिगो देती है। तपती धरती इसका स्वागत...

टाइगर कंट्री-बांधवगढ़ नेशनल पार्क, मध्य प्रदेश

Tiger-Bandhavgarh-Tiger-Reserve-MP-KaynatKazi-Photography-2016-4-of-17-960x636
टाइगर कंट्री-बांधवगढ़ नेशनल पार्क, मध्य प्रदेश बचपन से ही जब भी मैं अपने परिवार के साथ साउथ इंडिया जाती थी तो ट्रेन मध्य प्रदेश के बड़े भाग को क्रॉस करती हुई जाती थी। यह हिस्सा शुरू होते ही खिड़की के बाहर का नज़ारा अपने आप बदल जाता था। यह बताने की ज़रूरत नही पड़ती थी कि हम मध्य प्रदेश में...

मानसून मस्ती के लिए जाएं -परवाणू,हिमाचल प्रदेश

Mansoon-In-Himachal
Himalayan Epressway   किसी ने सच ही ही कहा है कि पहाड़ों की असली खूबसूरती तो मानसून आने के बाद ही निकल कर आती है। वैसे तो साल भर पहाड़ों पर वनस्पति नज़र आती है पर बारिश के बाद लगता है जैसे किसी ने दूर दूर तक फैले पहाड़ों को हरी मख़मल से ढंक दिया हो। जब पूरी वादी पाइन  के...

एक दिन डल लेक पर तैरते हाउस बोट पर….

Kashmir_KaynatKaziPhotography_2015-234
  दोस्तों कश्मीर की वादियों में दिन गुज़ारना शायद सब को पसंद आता होगा और इस यात्रा का एक और बड़ा आकर्षण है वह है हाउस बोट में ठहरना। अगर हिंदी सिनेमा की सत्तर के दशक की फिल्मों की बात करें तो उन फिल्मो में अक्सर कश्मीर की वादियों की शूटिंग देखने को मिलती थी और जिसमे हाउस बोट मुख्य...

Goa beyond the beaches-Festival, Adventure & Nature

hot air baloon goa
मदहोश करने वाली भीनी भीनी बारिश की फुहार, मिट्टी से आती सोंधी सोंधी खुश्बू, और घरों के अहातों मे काग़ज़ की नाव चलाते बच्चे. मानसून के दिनों में ऐसे ही कुछ नज़ारा दिखाई देता है गोआ मे. अगर मुझ से पूछा जाए तो गोआ सबसे ज़्यादा खूबसूरत मानसून मे ही नज़र आता है. जब प्रकृति मां जम के बरसती...

पुष्कर मेला – एक बार ज़रूर जाना

Pushkar-Mela
    वैसे तो पुष्कर एक छोटी जगह है पर विश्व मानचित्र पर पहचाना जाता है। इसे तीर्थों का तीर्थ कहा जाता है। अजमेर से 14 किमी उत्तर पश्चिम में अरावली पर्वत श्रंखलाओं के बीच बसा हुआ एक मनोरम स्थान है। पुष्कर शब्द दो शब्दों से मिल कर बना है। पुष्प+कर, पुष्प यानी फूल और कर यानी हाथ। पुष्कर में गुलाब...

A showcase of exotic handicrafts by women of Rural India-Saras Mela 2017

-women empowermentFemale Articians of Rural India-©Kaynat Kazi Photography-www.rahagiri.com (16 of 27)
हुनरमंद महिलाओं के संघर्ष की दास्ताँ - सरस मेला-2017 हर साल दिल्ली में आयोजित ट्रेड फेयर में देश दुनिया से आए हुनरमंदों की कला के दर्शन होते ही हैं लेकिन इस बार कुछ ऐसा देखने को मिला जिसकी चर्चा किये बिना नहीं रहा जा सकता है। अलग-अलग राज्यों के पेवेलियन के बीच मुस्कुराते स्टॉल सरस मेला 2017 का हिस्सा हैं। इन...

क्यों मनाते हैं दुर्गा पूजा?

Durga-Puja-960x636
पारिजात के पेड़ों पर सफ़ेद फूलों का आना, हवा में सुगंध का घुलना इशारा करता है कि भारत में त्योहारों का मौसम आने वाला है। शरद ऋतु के आगमन का स्वागत करते त्यौहार सब के जीवन में उमंग भर देते हैं। इसी कड़ी में हम चले चलते हैं दिल्ली के दिल में बसे छोटे से बंगाल- चितरंजन पार्क में...

Must Read

Snowfall-Gulmarg-2017-©Kaynat Kazi Photography-www.rahagiri.com (8 of 23)

Winters in Kashmir

"गर फ़िरदौस बर-रू-ए-ज़मीं अस्त हमीं अस्त ओ हमीं अस्त ओ हमीं अस्त" अगर धरती पर स्वर्ग कहीं है तो बस यहीं है यहीं है यहीं है। जब...
happy-basant-panchami-2018

Happy Basant Panchami-2018