Home Hindi

Hindi

ऐसा नहीं है कि हिन्दी में अच्छे ब्लॉग लिखने वालों की कमी है। हिन्दी में लोग एक से एक बेहतरीन ब्लॉग्स लिख रहे हैं। पर एक चीज़ की कमी अक्सर खलती है। जहां ब्लॉग पर अच्छा कन्टेन्ट है वहां एक अच्छी क्वालिटी की तस्वीर नहीं मिलती और जिन ब्लॉग्स पर अच्छी तस्वीरें होती हैं वहां कन्टेन्ट उतना अच्छा नहीं होता। मैं साहित्यकार के अलावा एक ट्रेवल राइटर और फोटोग्राफर हूँ। मैंने अपने इस ब्लॉग के ज़रिये इस दूरी को पाटने का प्रयास किया है। मेरा यह ब्लॉग हिन्दी का प्रथम ट्रेवल फ़ोटोग्राफ़ी ब्लॉग है। जहाँ आपको मिलेगी भारत के कुछ अनछुए पहलुओं, अनदेखे स्थानों की सविस्तार जानकारी और उन स्थानों से जुड़ी कुछ बेहतरीन तस्वीरें।

उम्मीद है, आप को मेरा यह प्रयास पसंद आएगा। आपकी प्रतिक्रियाओं की मुझे प्रतीक्षा रहेगी। आपके कमेन्ट मुझे इस ब्लॉग को और बेहतर बनाने की प्रेरणा देंगे।

मंगल मृदुल कामनाओं सहित आपकी हमसफ़र आपकी दोस्त

डा० कायनात क़ाज़ी

An unforgettable journey of the glorious Gwalior, Madhya Pradesh

  ग्वालियर की सरहद मे दाखिल होते ही अगर कोई चीज़ आपका ध्यान बरबस ही खींच ले तो वो है, ग्वालियर शहर का केंद्र बिंदु यहाँ का क़िला। 300 फिट की ऊंचाई पर पहाड़ी पर बना यह अभेद दुर्ग गवाह है परमार राजवंश के गौरवपूर्ण इतिहास का। यह क़िला 8 वीं शताब्दी मे बना और इसने कई राजवंशों का समय देखा। यहाँ के लोगों...

A showcase of exotic handicrafts by women of Rural India-Saras Mela 2017

-women empowermentFemale Articians of Rural India-©Kaynat Kazi Photography-www.rahagiri.com (16 of 27)
हुनरमंद महिलाओं के संघर्ष की दास्ताँ - सरस मेला-2017 हर साल दिल्ली में आयोजित ट्रेड फेयर में देश दुनिया से आए हुनरमंदों की कला के दर्शन होते ही हैं लेकिन इस बार कुछ ऐसा देखने को मिला जिसकी चर्चा किये बिना नहीं रहा जा सकता है। अलग-अलग राज्यों के पेवेलियन के बीच मुस्कुराते स्टॉल सरस मेला 2017 का हिस्सा हैं। इन...

A holy city in the middle of mountains-Namchi, Sikkim

Budha Park-Namchi-Sikkim-©Kaynat Kazi Photography-www.rahagiri.com (20 of 107)
पहाड़ों से घिरा एक आध्यात्मिक शहर-नाम्ची सिक्किम नामची दक्षिणी सिक्किम मे पड़ने वाला एक बेहद हसीन और खूबसूरत शहर है.यह शहर पहाड़ों के बीच बसा है और यह चारों ओर से ख़ूबसूरत पहाड़ियों से घिरा हुआ है। यह समुद्र तल से 1,675 मीटर की ऊंचाई पर है। नामची गंगटोक से लगभग 92 किलोमीटर और सिल्लीगुड़ी से 90 किलोमीटर की दूरी...

Switzerland of North East of India- Manipur

Sangai Festival-2016 Manipur-KaynatKazi Photography-2016-www.rahagiri.com (2 of 32)
उत्तर पूर्व का स्विट्ज़रलैंड मणिपुर कोलकाता से उड़ान भर कर जैसे ही हवाई जहाज़ नॉर्थ ईस्ट की ओर आगे बढ़ता है नीचे का नज़ारा बदलने लगता है। हरयाली से भरे मख़मली पहाड़ किसी स्वप्नलोक से जान पड़ते हैं।  ऐसा लगता है कि जैसे एलिस इन वंडरलैंड की दुनिया की ओर खिंचे चले जाते हों। यह पहाड़ कोई और नही बल्कि हिमालय के...

Goa beyond the beaches-Festival, Adventure & Nature

hot air baloon goa
मदहोश करने वाली भीनी भीनी बारिश की फुहार, मिट्टी से आती सोंधी सोंधी खुश्बू, और घरों के अहातों मे काग़ज़ की नाव चलाते बच्चे. मानसून के दिनों में ऐसे ही कुछ नज़ारा दिखाई देता है गोआ मे. अगर मुझ से पूछा जाए तो गोआ सबसे ज़्यादा खूबसूरत मानसून मे ही नज़र आता है. जब प्रकृति मां जम के बरसती...

Power packed NEHRU TROPHY BOAT RACE, Allahpuzha, Kerala

Nehru trophy bosat race-Backwaters-Alleppy-Kerala-KaynatKazi Photography-2016 (9 of 16)
नेहरू ट्रॉफी बोट रेस अलप्पुज़हा, केरला कोचीन से 80 किलोमीटर दूर एक छोटा-सा शहर है अलप्पुज़ा, लेकिन यह शहर पूरी दुनिया मे मशहूर है।  आप सोचते होंगे ऐसी क्या बात है यहाँ। जी हाँ, आज हम आप को ले आए हैं ऐसे ही एक उत्सव मे जिसकी धूम पूरी दुनिया मे होती है। इसका कारण है यहाँ हर साल अगस्त के...

Every traveler’s dream a road journey to-Leh Ladakh

हर ट्रैवेलर का सपना- लेह लद्दाख तक रोड यात्रा वैसे तो लद्दाख जाना किसी भी मौसम मे सुहावना है लेकिन मानसून की बात ही कुछ और है। रेगिस्तान होने के बावजूद लद्दाख बरसात के प्रभाव से अछूता नहीं रह पाता। चारों तरफ हरयाली नज़र आने लगती है। जिसे देख कोई अंदाज़ा भी नहीं लगा सकता की सर्दियों में यहाँ...

The emerging trend of the traveller & backpacker’s hostel in India

होटल में रहना हुआ पुराना यह है  ट्रैवेलर हॉस्टल का ज़माना   दोस्तों क्वीन फिल्म तो आप सबने ज़रूर देखी होगी। और एक बार तो ऐसा सोचा भी होगा कि काश आप भी कभी ऐसे ही अनजान देश में अनजान दोस्तों के साथ घूमने फिरने का आनंद उठा पाते और जैसे कंगना रनोट ने हॉस्टल में रह कर यूरोप देखा था...

This summer visit Ranthambore National Park to experience a vast wildlife reserve in Sawai Madhopur in Rajasthan

रणथम्बोर टाइगर रिज़र्व हम सभी ने अपने बचपन में टाइगर को चिड़िया घर में  देखा होगा। जंगल के राजा शेर को सर्कस के पिंजरे में दहाड़ते हुए भी देखा होगा पर जंगली जानवरों को खुले जंगल में देखना बहुत अलग अनुभव है। जंगल की प्राकृतिक छठा में  टाइगर को राजा की तरह शान से विचरण करते हुए देखना एक अदभुत...

Visit the town of Heritage Havelies in Mandawa, Rajasthan

Heritage Haweli-Mandawa-Kaynat Kazi Photography-2014
रूट: दिल्ली-बहादुरगढ़-झज्जर-चरखी दादरी-लोहारू-जुनझुनु-मंडावा 233 किलोमीटर 5-6 घंटों की यात्रा बाई रोड मंडावा जाना एक लंबे समय से मेरी विश लिस्ट मे था।  इस जगह के बारे मे मैंने बहुत सुना था।  कहते हैं यह जगह बहुत अनोखी है। राजस्थान के झुनझुनु जिले मे पड़ने वाला एक छोटा सा टाउन पूरे विश्व मे बड़ी प्रसिद्धी रखता है। आख़िर क्यूँ? मेरे मन मे सवाल...

Must Read

मॉनसून का मज़ा लें एमरेल्ड ग्रीन राज्य केरल में

#कोचीन केरल का नाम आते ही ज़ेहन में सबसे पहले क्या आता है?  समुन्दर,नारियल के पेड़, कथकली, बेक वाटर्स, टी-गार्डन, मंदिरों के ऊँचे-ऊँचे प्रसाद, पारम्परिक...