Home Hindi

Hindi

ऐसा नहीं है कि हिन्दी में अच्छे ब्लॉग लिखने वालों की कमी है। हिन्दी में लोग एक से एक बेहतरीन ब्लॉग्स लिख रहे हैं। पर एक चीज़ की कमी अक्सर खलती है। जहां ब्लॉग पर अच्छा कन्टेन्ट है वहां एक अच्छी क्वालिटी की तस्वीर नहीं मिलती और जिन ब्लॉग्स पर अच्छी तस्वीरें होती हैं वहां कन्टेन्ट उतना अच्छा नहीं होता। मैं साहित्यकार के अलावा एक ट्रेवल राइटर और फोटोग्राफर हूँ। मैंने अपने इस ब्लॉग के ज़रिये इस दूरी को पाटने का प्रयास किया है। मेरा यह ब्लॉग हिन्दी का प्रथम ट्रेवल फ़ोटोग्राफ़ी ब्लॉग है। जहाँ आपको मिलेगी भारत के कुछ अनछुए पहलुओं, अनदेखे स्थानों की सविस्तार जानकारी और उन स्थानों से जुड़ी कुछ बेहतरीन तस्वीरें।

उम्मीद है, आप को मेरा यह प्रयास पसंद आएगा। आपकी प्रतिक्रियाओं की मुझे प्रतीक्षा रहेगी। आपके कमेन्ट मुझे इस ब्लॉग को और बेहतर बनाने की प्रेरणा देंगे।

मंगल मृदुल कामनाओं सहित आपकी हमसफ़र आपकी दोस्त

डा० कायनात क़ाज़ी

नवीन और प्राचीन का अनूठा संगम-पांडिचेरी

Pondicherry_2015-960x636
     Sunrise@Gandhi Statue एक स्वप्न सा सजीला शहर जो संगम है कई सभ्यताओं का, उनकी संस्कृतियों का, उनकी आस्था का और परस्पर सौहार्द का। यहाँ भेद हैं वर्ण के, भाषा और आस्था के फिर भी यह एक हैं। एक शहर जो शान्त है, यहाँ शोर है तो सिर्फ समुद्र की लहरों का। यहाँ है अरबिन्दो आश्रम, एक आधुनिक और अन्तराष्ट्रीय  शहर-ऑरोविल,...

अखण्ड भारत के निर्माता थे सरदार पटेल

Sardar_patel
सरदार पटेल की जयंती पर विशेष दो दोस्त बैठ कर छुट्टियाँ प्लान कर रहे थे। एक बोला -यार मेरी बीवी की फरमाइश है की हम इन विंटर वेकेशन्स में राजिस्थान टूर पर जाएं। उसे जयपुर से ब्लॉक प्रिंट की चादरें और बन्धेज की चुनरी, जोधपुर से जूतियाँ,पुष्कर से कैमल लैदर के बैग खरीदनी है और जैसलमेर में सेन्ड डियून्स...

अंगना की चिड़िया

Aangan-Chidiya-2-960x636
  अंगना की चिड़िया आज विश्व गौरय्या दिवस है। जान कर थोडा मन बेचैन हुआ कि जो कल तक हमारे घर के आँगन में फुदकने वाली छोटी सी चिड़िया थी वो आज न जाने कहाँ गायब हो गई है। हम जो बचपन में सुबह होने का अहसास चिड़ियों की आवाज़ से लगते थे आज वो मधुर गीत कहीं खो...

एक फोटोग्राफर की डायरी से….

Photographer-2-960x636
एक फोटोग्राफर की डायरी से…. मैं एक महिलाफोटोग्राफर और साहित्यकार हूँ, घूमने-फिरने का शौक़ बचपन से है। हमने अपने बचपन में बहुत सारे शहर देखे और आज भी मैं अपने देश की विविधता पर मोहित हूँ। आप किसी भी दिशा में निकल जाएँ, आपको हमेशा कुछ नया, कुछ अनोखा देखने को मिलेगा।आज मेरे मन में आया कि आप के साथ अपनी...

रजिस्थानी आन बान और शान का प्रतीक -मारवाड़ फेस्टिवल

Marvad-Festival-3-960x636
रजिस्थानी आन बान और शान का प्रतीक -मारवाड़ फेस्टिवल   सर्दियों की आहट के साथ शुरू  होने वाला ये फेस्टिवल पूरे  सप्ताह तक चलता है। मारवाड़ फेस्टिवल हर साल सितंबर-अक्टूबर माह में मनाया जाता है। यह हिन्दू कैलेण्डर के अश्विन माह में मनाया जाता है। सप्ताह भर चलने वाले इस उत्सव का समापन शरद पूर्णिमा को रेगिस्तान का द्वार कहे...

क्यों मनाते हैं दुर्गा पूजा?

Durga-Puja-960x636
पारिजात के पेड़ों पर सफ़ेद फूलों का आना, हवा में सुगंध का घुलना इशारा करता है कि भारत में त्योहारों का मौसम आने वाला है। शरद ऋतु के आगमन का स्वागत करते त्यौहार सब के जीवन में उमंग भर देते हैं। इसी कड़ी में हम चले चलते हैं दिल्ली के दिल में बसे छोटे से बंगाल- चितरंजन पार्क में...

चित्ररंजन पार्क में दुर्गा पूजा की तैयारियाँ

  हार श्रृंगार के पेड़ों पर कलियाँ चटख़ने लगी हैं, सूर्य देव भी थोड़े थके से जान पड़ते हैं, हवा में रात की रानी की खुशबु बहने लगी है, तन को जलाने वाली गर्म हवाएँ अब शान्त हो गई हैं, शाम होते ही सूरज टप्प से छुपने लगा है। यह आहट है शरद ऋतु के आगमन की और देश भर...

Haritage walk-Phool Mandi

Heritage-Phool-Mandi-960x636
हैरिटेज वॉक: फूल मंडी    जिंदिगी में ऐसा बहुत बार होता है कि हम दूर दराज़ की जगह तो देख आते हैं पर ऐसी कई  देखने लायक जगह नज़दीक में ही होती हैं पर हम उनके  टाइम ही नहीं निकाल  पाते। या यूँ कहें की कभी सोचते ही नहीं की यहाँ भी कभी जाना चाहिए। ऐसी ही कुछ अनछुई जगहों पर...

एक बार ज़रूर जाएं: रणथम्बोर टाइगर रिज़र्व रणथम्बोर राष्ट्रीय उद्यान

Ranthambore-National-Park-1-960x636
एक बार ज़रूर जाएं: रणथम्बोर टाइगर रिज़र्व/रणथम्बोर राष्ट्रीय उद्यान       हम सभी ने अपने बचपन में टाइगर को चिड़िया घर में  देखा होगा। जंगल के राजा शेर को सर्कस के पिंजरे में दहाड़ते हुए भी देखा होगा पर जंगली जानवरों को खुले जंगल में देखना बहुत अलग अनुभव है। जंगल की प्राकृतिक छठा में  टाइगर को राजा की तरह शान से विचरण...

भोपाल के आस पास भी बहुत कुछ है ख़ास

Poem-960x636
  भोपाल के आस पास भी बहुत कुछ है ख़ास   मैं एक फोटोग्राफर और साहित्यकार हूं. घूमने-फिरने का शौक बचपन से है. हमने बचपन में बहुत सारे शहर देखे और आज भी मैं अपने देश की विविधता पर मोहित हूं. आप किसी भी दिशा में निकल जाएं,देश के किसी कोने में चले जाएं, आपको हमेशा कुछ नया, कुछ अनोखा...

Must Read

Art exhibition at Treehouse Hotel, Club and Spa, Bhiwadi, Rajasthan

 ARTOTEL-Edition 1, presented by Treehouse Hotels  “Past through the lens of the future” Interact.Express.Art-iculate Bhiwadi, November 20th, 2017: The Treehouse Hotels presented ARTOTEL- Edition 1 “Past through...