Home Hindi Page 8

Hindi

ऐसा नहीं है कि हिन्दी में अच्छे ब्लॉग लिखने वालों की कमी है। हिन्दी में लोग एक से एक बेहतरीन ब्लॉग्स लिख रहे हैं। पर एक चीज़ की कमी अक्सर खलती है। जहां ब्लॉग पर अच्छा कन्टेन्ट है वहां एक अच्छी क्वालिटी की तस्वीर नहीं मिलती और जिन ब्लॉग्स पर अच्छी तस्वीरें होती हैं वहां कन्टेन्ट उतना अच्छा नहीं होता। मैं साहित्यकार के अलावा एक ट्रेवल राइटर और फोटोग्राफर हूँ। मैंने अपने इस ब्लॉग के ज़रिये इस दूरी को पाटने का प्रयास किया है। मेरा यह ब्लॉग हिन्दी का प्रथम ट्रेवल फ़ोटोग्राफ़ी ब्लॉग है। जहाँ आपको मिलेगी भारत के कुछ अनछुए पहलुओं, अनदेखे स्थानों की सविस्तार जानकारी और उन स्थानों से जुड़ी कुछ बेहतरीन तस्वीरें।

उम्मीद है, आप को मेरा यह प्रयास पसंद आएगा। आपकी प्रतिक्रियाओं की मुझे प्रतीक्षा रहेगी। आपके कमेन्ट मुझे इस ब्लॉग को और बेहतर बनाने की प्रेरणा देंगे।

मंगल मृदुल कामनाओं सहित आपकी हमसफ़र आपकी दोस्त

डा० कायनात क़ाज़ी

मॉनसून मज़ा@ सिंहगढ़ फोर्ट

Singhagad-Fort
मॉनसून मज़ा@ सिंहगढ़ फोर्ट, पुणे, महाराष्ट्र    Add caption   अगर आप भारत में मॉनसून का मज़ा लेना चाहते हैं तो वेस्टर्न घाट ज़रूर जाएं। भारत के पश्चिमी तट पर स्थित पर्वत शृंखला को पश्चिमी घाट कहते है। दक्‍कनी पठार के पश्चिमी किनारे के साथ-साथ यह पर्वतीय शृंखला उत्‍तर से दक्षिण की तरफ 1600 किलोमीटर लम्‍बी है। विश्‍व में जैविकीय विवधता के लिए यह...

एक मुलाक़ात सांस्‍कृतिक विरासत से-इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय

Manav-Sangrahalay_tribal-_-bhopal
एक मुलाक़ात सांस्‍कृतिक विरासत से Part-2 Tribal Art@Indira Gandhi Rashtriya Manav SangrahalayaIgrms Bhopal   आज मैं वीथी संकुल देखने एक बार फिर पहुँच गई हूँ इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय। वीथी संकुल एक भव्य भवन है. जहाँ तेरह कला दीर्घा हैं. जिसका स्थापत्य अनूठा है। वीथी संकुल परिसर मे भारत के सबसे बडे 1001 बातियों वाले विशाल दीप-माला को रखा गया है. यहाँ वर्ष भर होने...

एक मुलाक़ात सांस्‍कृतिक विरासत से-इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय-भाग -1

Manav-Sangrahalay_tribal-_-bhopal1
एक मुलाक़ात सांस्‍कृतिक विरासत से Part-1 Gate No.1 Indira Gandhi Rashtriya Manav Sangrahalaya   मैं जब छोटी थी और अपनी सामाजिक विज्ञान और भूगोल की किताबें पढ़ा करती थी तब उन किताबों मे बने अलग अलग प्रदेशों के लोगों, उनके घर, उनका जीवन, उनके रहन सहन की वस्तुएँ देख कर हमेशा चमत्कृत हुआ करती थी. मैं अपने ख़यालों की छोटी-सी दुनिया मे उन...

दा ग्रेट हिमालय कॉलिंग….चौथा दिन- कुल्लू – देकपो शेडरूपलिंग मोनेस्ट्री

Shedrup-Ling-Monastery
The Great Himalayas Calling... Day-04 Dhakpo Shedrupling Monastery इस सीरीज़ की पिछली पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें:  दा ग्रेट हिमालयकॉलिंग....तीसरा दिन: कसोल Dhakpo Shedrupling Monastery     हमने कसोल से कुल्लू तक की दूरी 10 किलोमीटेर की है जिसे हमने 1 घंटे में पूरा किया. देखा जाए तो कुल्लू शहर मे ऐसा देखने के लिए कुछ खास नही हैं. कुल्लू अपने आप मे एक वैली...

दा ग्रेट हिमालय कॉलिंग….छठा दिन

Naggar
The great Himalayas calling... DAY-6-Naggar छठा  दिन-नग्गर   हिमालय की समृद्ध संस्कृति के दर्शन करने के लिए नग्गर से बेहतर जगह कोई हो  ही नहीं सकती है.इस नगर को राजा विशुद्ध पाल ने बसाया था और यह नगर 400 वर्षों तक कुल्लू की राजधानी रहा है। नग्गर को मंदिरों का नगर  भी कहा जाता है, क्योंकि यही एक ऐसा गांव है, जहां स्थानीय...

दा ग्रेट हिमालय कॉलिंग….पांचवां दिन, नग्गर

Naggar-Himachal
The great Himalayas calling....Naggar Castle Day-05 पांचवां दिन - नग्गर   Naggar castle   इस सीरीज़ की पिछली पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें: दा ग्रेट हिमालयकॉलिंग....चौथा दिन-कुल्लू - देकपो शेडरूपलिंग मोनेस्ट्री नग्गर कैसल   विश्व धरोहर नग्गर कैसल में हर साल देशी और विदेशी पर्यटक ठहरना पसंद करते ही हैं साथ ही यह जगह हमारी हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को भी खूब लुभाती है। यहाँ कई मशहूर फिल्मों...

दा ग्रेट हिमालय कॉलिंग….पहला दिन

Himalayas_waterfall_jibhi_-tirthan-valley
The great Himalayas calling Day-1 हमारे देश का गौरव है-दा ग्रेट हिमालय. यह सदियों से कितने ही लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है. साधु संतों को, वैरागियों को, पर्वतारोहियों को और मुझ जैसे राहगीरों को... हर इंसान की तलाश अलग..खोज अलग..कोई ढूंढ़ता आता है शांति,  तो कोई खोज रहा है मोक्ष.. तो कोई प्रकृति की सुंदरता मे बस खो जाना चाहता है...  दा ग्रेट...

दा ग्रेट हिमालय कॉलिंग…. तीसरा दिन: कसोल

Himalayas__kasol_parvati-valley
The great Himalayas calling.... DAY-3 तीसरा दिन: कसोल इस सीरीज़ की पिछली पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें:  जिभी और बंजार वैली Malana Grass   जिभी से कसोल की दूरी 80 किलोमीटेर की है जिसे हम ने 3 घंटे में पूरा किया. हम सुबह जिभी से निकले और दोपहर तक कसोल पहुँच गए थे. कसोल हिमाचल का एक छोटा-सा टाउन है. आज से पाँच साल...

दा ग्रेट हिमालय कॉलिंग….दूसरा दिन

Himalayas_waterfall_jibhi_-tirthan-valley-1
इस सीरीज़ की पिछली पोस्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें:पहला दिन-दिल्ली से जिभी The great Himalayas calling Day-2 दूसरा दिन  रात को बहुत अच्छी नींद आई. पहाड़ी रास्तों पर दिन भर ट्रेवल करने के बाद कहीं जंगल मे कोई आपके लिए नर्म मुलायम बिस्तर बिछाए मिल जाए तो ऐसा लगता है जैसे आप की मां खुद यहाँ आपकी थकान का अहसास करके...

ताज महल में और भी बहुत कुछ है ख़ास

Taj-Mahal-Agra
 वास्तुकला ताज महल मुगल साम्राज्य की  वास्तुकला का उत्कृष्ट नमूना है। इसकी वास्तु शैली फारसी, तुर्क, भारतीय एवं इस्लामिक वास्तुकला के घटकों का अनोखा मेल प्रस्तुत करती  है।मुग़ल मध्य एशिया से भारत आए थे ,और वह जहाँ जहाँ से होकर गुज़रे उन स्थानों की  उन्होंने  खुली  अपनाया। इसीलिए मुग़ल वास्तुकला इस्लामिक वास्तु शैली, तुर्की, फ़ारसी व भारतीय राजपुताना वास्तु शैली का...

Must Read

Meghalaya Tourism presents- The Meghalayan Age Festival,2020

Meghalaya Tourism presents- The Meghalayan Age Festival,2020

What: 'The Meghalayan Age- 2020’ When: 7th – 15th of March,2020 Where: Shillong, Meghalaya ABOUT THE MEGHALAYAN AGE - 2020 We live in a fast-paced age, laden with distractions...